Tuesday, 15 September 2020

Essay on Cat in Hindi - बिल्ली पर निबंध

 बिल्ली पालतू जानवरों की श्रेणी में आने वाला एक घरेलू पशु हैजिसके पणजी बड़े ही नुकीली और मजबूत होते हैं इसकी एक लंबी पूछ होती है। बिल्ली एक छोटे आकार का जानवर होता है युद्ध करने में बड़ा ही सुंदर और आकर्षक का होता है इसे बाघ प्रजाति की श्रेणी में रखा गया है घरों में से पालतू जानवरों के रूप में पढ़ा जाता है अमेरिका में बिल्ली को बड़े पैमाने पर पाला जाता है वहां बिल्लियों को घरेलू जानवर के रूप में रखा जाता है।

Essay on Cat in Hindi - बिल्ली पर निबंध 


Essay on Cat in Hindi

बिल्ली बाघ प्रजाति का जानवर होता है। यह बाघ प्रजाति का सबसे छोटा जानवर होता है आपने देखा होगा कि बिल्ली और बाघ एक दूसरे से मिलते जुलते शक्ल के होते हैं। इसलिए बिल्ली और बाघ का डीएनए एक ही होता है। किंतु बिल्ली छोटा जानवर होने की वजह से देखा तक जानवर नहीं होता बजाए bhag pashu ke बिल्ली की आंखें बाघ ऐसी ही होती है।
बिल्ली एक बुद्धिमान पशुओं की श्रेणी में आने वाला जानवर होता है जिसका आकार कुत्ते के बच्चे के जितना होता है बिल्ली आमतौर पर सफेद रंग और काले रंग में पाई जाती है इसके अलावा बिल्ली भूरे रंग में भी देखी जा सकती है बिल्ली की आंखें बड़ी चमकीली और पूरे तथा नीले रंग की होती है। बिल्ली रात के समय भी आसानी से देख सकती है क्योंकि इसकी आंखें रात के समय भी चमकती रहती है जी अंधेरी रात में अच्छी तरह देख सकती है।
बिल्ली एक चौपाया जानवर होता है जिसकी एक मुड़ी हुई पूछ होती है जिसके द्वारा जे अपना बैलेंस बनाए रखती है बिल्ली की एक बड़ी खास बात यह होती है कि जी बड़ी आसानी से कूद सकती है यह एक दीवार से दूसरी दीवार पर पल भर में ही कूद सकती है और इसे कोई चोट भी नहीं लगती। इसके अलावा इसकी पूछ भी इसका बैलेंस बनाए रखती है।
बिल्ली के पंजे बड़े ही मजबूत और नुकीले होते हैं जिसकी मदद से यह किसी भी तरह की चीज पर आसानी से पकड़ मजबूत कर लेती है और अपने शिकार को भी इन्हीं पंजों से पकड़ लेती है। बिल्ली की सुनने की क्षमता भी काफी तेज होती है हल्की सी आहट भी इसे सुनाई दे देती है।
दिल्ली के पूरे शरीर पर रेशमी बाल होते हैं जय बाल इन्हें तेज गर्मी और तेज ठंड से बचाए रखते हैं। दिल्ली का मुख्य आहार चूहा होता है चूहे को देखते ही उसे पकड़ कर खा जाती है। इसके अलावा बिल्ली एक सर्वाहारी पशु है दूध अंडा मांस के अलावा रोटी भी खा लेती है। इसीलिए बिल्ली को सर्वाहारी जानवर भी कहा जाता है।
कुत्ता बिल्ली का सबसे बड़ा दुश्मन होता है इसलिए अक्सर बिल्ली कुत्ते को देखकर दूर भाग जाती है।बिल्लियों को अक्सर अशोक कर रहना पड़ता है क्योंकि हर कोई बिल्ली को पसंद नहीं करता बिल्ली अक्सर घरों में घुसकर दूध भी जाती है जिसका लोग इसे देखते ही भगा देते हैं। जब भी कभी बिल्ली को मौका मिलता है तुझे घर में घुसकर लोगों का दूध पी जाती है और अपना पेट भर लेती है इसके अलावा जब भी इसे कोई चूहा दिखाई देता है तो उसे खा कर ही दम लेती है।
भारत में बिल्ली की बहुत सारी प्रजातियां पाई जाती हैं इसके अलावा आप संसार भर में भी बिल्लियों की सैकड़ों पर जातियों को देख सकते हैं सबसे अधिक बिल्लियां अमेरिका में पाली जाती है वहां पर आपको सेंड करो किसम की प्रजातियां देखने को मिल जाएंगे लोग बिल्लियों को अपने घरों में पालतू जानवर के रूप में पालते हैं। वहां के लोगों को बिल्लियां रखने का बड़ा ही शौक होता है वह कुत्तों से ज्यादा बिल्लियां पाली जाती है।
संसार भर में बिल्लियों की इतनी सारी प्रजातियां देखने को मिल जाती है कि किसी का रंग काला होता है किसी का रंग सफेद होता है किसी का रंग काला और सफेद दोनों तरह का रंग होता है। बिल्ली की गई ऐसी प्रजातियां भी है जिनका आकार छोटा या बड़ा होता है कई ऐसी प्रजातियां भी है जो कुत्ते जितनी बड़ी होती है किंतु कुछ ऐसी प्रजातियां भी है जो कुत्ते के बच्चे जितनी बड़ी होती है।
बिल्ली को आराम करना बहुत ज्यादा पसंद होता है अक्सर बिल्ली दिन भर में से घंटों के लिए आराम करती है जिस दिन भर सोती रहती है और आपके समझ है ज्यादा ज्यादा घूमती फिरती रहती है जय रात के समय ही अपना भोजन ढूंढती है। बिल्ली अक्सर ज्यादा दूध पीना पसंद करती है।
बिल्ली के दौड़ने की गति 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकती है। बिल्ली का शरीर बहुत अकेला होता है ज दीजिए किसी ऊंची जगह से गिर भी जाए तो इसे कभी चोट नहीं लगती इसीलिए यह आसानी से एक दीवार से दूसरी दीवार पर कूद जाती है।
बिल्ली के मुंह में लगभग 27 दांत होते हैं जबकि एक जवान बिल्ली के मुंह में इससे भी ज्यादा दांत होते हैं एक बिल्ली का वजन लगभग किलो से लेकर किलोग्राम तक होता है एक बदली एक बार में से लेकर बच्चों को जन्म देती है।
दिल्ली की सूंघने की शक्ति बड़ी ही तेज होती है चूहों को तो यह दूर से देखते ही सूंघ लेती है। दिल्ली को पालतू पशु के रूप में पाला जाता है जिस कारण इसे जानवर का स्वभाव बड़ा ही अच्छा और इंसानों के हावभाव को समझने वाला होता है। किंतु जो बिल्लियां जंगलों में रहती है उनका स्वभाव बड़ा ही गुस्सैल किस्म का होता है।
बिल्ली का मुख्य भोजन सबसे खास तो चूहा होता है इसके अलावा जी चिड़िया कबूतर और मछली आदि को भी चट कर जाती है दिन की बजाय जी रात को ज्यादा उछल कूद करती है उस समय जी अपने भोजन की तलाश में भी इधर-उधर घूमती रहती है।
पूरे संसार भर में बिल्लियों की 30 से भी ज्यादा प्रजातियां देखने को मिल जाती है तेंदुआ शेर बाघ भी बिल्ली की प्रजाति के ही है ।
10 lines on cat
1.     बिल्ली संसार भर में रहने वाला जानवर है
2.     बिल्लियों की खाल के द्वारा बस्तर बनाए जाते हैं।
3.     बिल्ली के सुनने की क्षमता कुत्ते से ज्यादा होती है।
4.     पुराने समय में लोग बिल्लियों की पूजा किया करते थे।
5.     एक बार में बिल्ली 10 फुट से भी ज्यादा की दूरी पर कूद सकती है।
6.     बिल्ली की नाक के भी फिंगर प्रिंटर बने होते हैं जैसे कि मानव के होते हैं।
7.     बिल्ली का शांत स्वभाव का जानवर होता है हमें सभी को मिलकर इस की सुरक्षा करनी चाहिए।
8.     बिल्ली हमेशा दबे पांव चलकर ही अपने शिकार का पीछा करती है और मौका मिलते ही उस पर टूट पड़ती है। हल्की सी आहट भी नहीं होने देती जब बिल्ली अपना शिकार करती है इसके पंजे गद्देदार होती है जिस कारण इसके आने का पता भी नहीं चलता।
9.     हमारे भारत देश में बिल्लियों का रास्ता काटना शुभ माना जाता है जब हम किसी कार्य के लिए बाहर जाते हैं और रास्ते में बिल्ली हमारा रास्ता काट देती है तो हम इसे बुरा मानते हैं और हमें लगता है कि हमारा काम अधूरा ही रह जाएगा क्योंकि बिल्ली ने हमारा रास्ता काट दिया है।
10. इसलिए बिल्लियों को हम देखते ही दूर भगा देते हैं और इन्हें हम घरेलू जानवर के रूप में नहीं पालते ऐसा देखा गया है कि भारत में ज्यादातर बिल्लियों को घरेलू जानवर के रूप में बहुत कम पाला जाता है जबकि अमेरिका में बहुत ही ज्यादा पालतू बिल्लियां होती है इसके पीछे सिर्फ आत्मविश्वास से जुड़ा हुआ है इसलिए भारत के लोग ज्यादातर बिल्लियों को पालना अच्छा काम नहीं मानते वह बिल्लियों की बजाय कुत्ता को ज्यादा पालते हैं।
जापान ऐसा देश है जहां बिल्लियों को देखना और उनका रास्ता काटना बुरा नहीं माना जाता बिल्लियों को वहां आदर की नजर से देखा जाता है जबकि भारत में ऐसा नहीं होता। जापान में काली बिल्ली को सबसे शुभ माना जाता है।
बिल्ली का बड़े ही अच्छे स्वभाव का जानवर होते हैं हमें इसकी रक्षा करनी चाहिए आजकल देखा गया है कि बिल्लियां बहुत अकामा देखने को मिलती है इसकी वजह है कि लोगों के पक्के मकानों की वजह से न रहने के लिए कोई जगह नहीं मिल पाती जिस कारण बिल्लियों की संख्या बहुत कम होती जा रही है।


SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: