Tuesday, 1 September 2020

Essay on Fish in Hindi मछली पर निबंध

Fish essay in Hindi

Essay on Fish in Hindi

मछली एक ऐसा प्राणी है जो सिर्फ़ पानी में ही रह सकता है और ज्यादा मीठे पानी के स्रोतों और समुन्द्र में बहुतायत मात्रा में पायी जाती हैं। मछली गलफड़ों के द्वारा सांस लेती है मछली के गलफड़े उससे सांस लेने में मदद करते हैं वह पानी में धूलि आक्सीजन को फ़िल्टर करते हैं और गंदी हवा को बाहर निकालते हैं और जब मछली को पानी से बाहर निकाला जाता है तो उसके गलफड़े काम करना बंद कर देते हैं जिस कारण मछली को सांस नहीं मिल पाती और वह मर जाती है। अगर कोई मछली किसी शिकार को चबाने की कोशिश करती है तो उसका दम घुटता है क्योंकि चबाने से उसके गलफड़ों के उपर से जो पानी निकलता है वह बादा उत्पन करता है जिससे सांस लेने में परेशानी होती है।

ज्यादातर मछलियां अंडे देती है परन्तु कुछ सीधे बच्चों को जन्म देती हैं जैसे सफ़ेद शार्क। कुछ मछलियां ऐसी भी हैं जो पीछे की तरफ तैर सकती हैं जैसे ट्रिग्गरफिश। गोल्डफिश मछली के पलकें नहीं होती इसीलिए वह अपनी आंखें बंद नहीं कर सकती। दुनियभर में मछलियों की 25 हज़ार से भी अधिक प्रजातियां पायी जाती है। ज्यादातर मछलियां अपने शरीर के स्पर्श से ही चीज़ का स्वाद पता कर लेती हैं।

व्हेल मछली समुन्द्र में रहने वाली सबसे बड़ी जीव है इस विशालकाय जीव का मुख्य भोजन सूखम जीव यानी प्लैंकटन है। इसके इलावा शार्क मछली समुन्द्र के सबसे बड़े शिकारियों में से एक गिनी जाती है। सफेद शार्क अपने शरीर के तापमान को बढ़ा भी सकती है जिस कारण वह ठंडे पानी में भी रह सकती है। सबसे ज़हरीली मछली स्टोन फिश (Stone Fish) जिसे खाने से तुरंत मौत हो जाती है।

मछलियों का बड़ी मात्रा में शिकार होता है इनके तेल और चमड़ी से कई वस्तुएं बनायीं जाती हैं और ज्यादातर यह भोजन में काम आती हैं इसीलिए आज मछलियों का संसार विलुप्त होने की कगार पर है।

शार्क मछली एक ऐसी मछली है जो अपने जीवन काल के दौरान 30, 000 से भी ज्यादा दांत खो देती है। क्योंकि इस मछली के दांत निकलते रहते हैं और उसकी जगह नए आते रहते हैं। समुद्र में पाई जाने वाली गोल्डफिश एक ऐसी मछली है जिसके याद रखने की क्षमता बड़ी ही कम होती है वह मात्र 3 सेकंड के लिए ही किसी चीज को याद रख सकती है इसके बाद वह भूल जाती है। शार्क मछली का अस्तित्व 40 करोड वर्ष पहले से माना जाता है , जेलीफिश पृथ्वी पर 60 करोड़ वर्षों से रह रही है।

मछलियों के बारे में 1 रोचक तथ्य जो भी है कि शार्क मछली एक ऐसी मछली है जो सोते हुए भी पानी में तैरती रहती है अर्थात यह सोते समय एक जगह से दूसरी जगह पानी में घूमती रहती है। कुछ मछलियों की प्रजातियां तो ऐसी भी है जो हफ्तों या फिर महीनों तक कभी भोजन के बिना जिंदा रह सकती है इनमें से नीली व्हेल मछली जो एक बार खाने के बाद 5 महीने तक भोजन के बिना जिंदा रह सकती है। समुंदर में कुछ ऐसी मछलियां भी पाई जाती है जिन्हें छूने पर करंट महसूस होता है यह मछलियां ज्यादातर कोलंबिया में पाई जाती है।

अन्य लेख :
  1. लूमड़ी पर निबंध
  2. कुत्ते पर लेख रचना
  3. संगति का प्रभाव पर निबंध

SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: