Wednesday, 2 September 2020

जीवन में खेलों का महत्व पर निबंध Essay on importance of sports in Hindi

एक अच्छे स्वास्थ्य का होना बेहद जरूरी होता है क्योंकि यदि शरीर रिष्ठ पुष्ट होगा तभी हमारा मस्तिष्क का अच्छे से निर्माण होगा। शरीर को स्वस्थ रखने में पोस्टिक भोजन के अलावा खेल कूद और व्यायाम मानव के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। खेलों के द्वारा हमें शरीरक और मानसिक दोनों तरह का फायदा मिलता है।

 Essay on importance of sports in Hindi

(जीवन में खेलों का महत्व पर निबंध)

इनके द्वारा हमारा पूरा शरीर तंदुरुस्त और तरोताजा रहता है। हमें दिनभर काम करने की शक्ति मिलती है इसके अलावा खेलों से मानव में अच्छे गुणों का विकास होने के अलावा धैर्य और सहनशीलता की शक्ति भी उत्पन्न होती है। इसीलिए खेलों  सभी के जीवन में एक अहम रोल होता है किंतु खेलों का सबसे अधिक महत्व छात्र जीवन में ज्यादा होता है। खेलों के महत्व को देखते हुए हमें दिन में कुछ समय खेलकूद के लिए जरूर निकालना चाहिए।

खेलों से हमें शरीरक तंदुरुस्ती और मानसिक तंदुरुस्ती तो मिलती ही है इसके अलावा इससे हमारा अच्छा ख़ासा मनोरंजन भी हो जाता है खेलों के द्वारा एक खिलाड़ी में आत्मनिर्भर होने की शक्ति और जज्बा उत्पन्न होता है खेल खेलते वक्त वह कभी भी शरीर के लिए ही नहीं खेलता बल्कि उसकी हार और जीत पूरी टीम की हार और जीत होती है।

खेलों के द्वारा हमारे अंदर सकारात्मक सोच पैदा होती है इसलिए हर एक को अपने जीवन में किसी ना किसी खेल को जरूर अपनाना चाहिए और उस में भाग लेना चाहिए। खेलों के द्वारा हमें शरीर को ऊर्जा प्राप्त होती है और इसके अलावा यह हमारी मानसिक शक्ति में भी वृद्धि करता है, क्योंकि शरीर को शक्ति और मानसिक शक्ति के द्वारा ही हम जीवन में आगे बढ़ सकते हैं।

छात्र जीवन में तो खेलों का एक खास महत्व माना जाता है खेलों के दम पर तो बहुत सारे छात्र ऊंचे ऊंचे मुकाम हासिल कर लेते हैं विद्यार्थी देश के युवा होते हैं वह खेल प्रतियोगिताओं के द्वारा ज्यादा अनुशासित , स्वास्थ्य , बलवान और आसानी से किसी भी कठिनाई का सामना करने की हिम्मत रखते हैं। खेलों के द्वारा हमारी अंदर से नकारात्मक ऊर्जा दूर होने लगती है इसके अलावा जे हमें तनाव को दूर रखने में भी मदद करता है।

हमारे जीवन के लिए अत्यंत जरूरी है यह कहना हमारे लिए कोई संकोच नहीं होगा जीवन में जितनी ज्यादा शिक्षा जरूरी होती है उतनी ही ज्यादा हमारे जीवन में खेलों का महत्व होता है। इसलिए शिक्षा संस्थान को ये बात ध्यान में रखनी चाहिए कि वह ज्यादा से ज्यादा छात्रों को खेलों के प्रति जागरूक करें और उन्हें खेलों का महत्व समझाएं और उनके लिए खेलकूद की व्यवस्था भी करें।

विद्यार्थी जीवन में खेलों का महत्व पर निबंध 

एक अच्छे स्वास्थ्य के लिए हर मनुष्य को किसी ना किसी खेल में जरूर भाग लेना चाहिए क्योंकि खेलों के द्वारा तन और मन दोनों स्वस्थ रहते हैं। खेल भी दो तरह के होते हैं एक खेल जो घर से बाहर खेला जाता है जबकि दूसरा खेल घर के अंदर खेला जाता है खेल चाहे कोई भी हो जिंदगी में खेलों का हमारी जिंदगी में विशेष महत्व है इसीलिए अपनी जिंदगी में खेलों को अपनाकर इसे खुशहाल बनाना चाहिए। खेलकूद तो हमारे अंदर एक ऐसी भावना उत्पन्न कर देते हैं जिसके द्वारा हमारे कार्य करने की क्षमता बढ़ती है और इसके साथ साथ हमारा विकास भी होता है हमें आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है। हमारी आदतों में सुधार होने लगता है बुरी आदतें छूटने लगती है जबकि अच्छी आदतें हमारे अंदर आने लगती है।

किसी भी टीम की जीत और हार में सभी खिलाड़ियों का बराबर का योगदान होता है इसी तरह हम कह सकते हैं कि खेलकूद के द्वारा ही हमारे अंदर सहयोग की भावना , सहनशीलता की भावना , संगठन की भावना और एक दूसरे पर विश्वास रखने की भावना का विकास होता है। खेल हमें बीमारियों से दूर रखता है। रोजाना खेल को अपनी जिंदगी में अपनाने से खाया हुआ भोजन जल्दी पच जाता है और शरीर में फुर्ती भी आ जाती है इनके द्वारा हमारा शरीर मजबूत और सुडोल बनता है और हमारे दिमाग के काम करने की क्षमता भी बढ़ने लगती है।

आज संसार के हर कोने कोने में खेलों को विशेष स्थान दिया जाता है आजकल तो स्कूलों में भी बच्चों के लिए खेलों का विशेष आयोजन करवाया जाता है और उन्हें खेलों में भाग लेने के लिए भी प्रेरित किया जाता है इसलिए माता-पिता को भी चाहिए कि वह अपने बच्चों को उसी स्कूल में दाखिला दिलाएं जहां पर खेलो को विशेष महत्व दिया जाता है। खेलों के द्वारा मनुष्य के अंदर उदारता मिलनसार और सहनशीलता की शक्ति उत्पन्न होती है क्योंकि एक अच्छा जीवन जीने के लिए इन सभी गुणों का विकसित होना बेहद जरूरी होता है।

यदि इंसान का शरीर ही स्वस्थ नहीं होगा तो वह दुनिया के सभी सुखों और भोग विलास से दूर रहेगा क्योंकि एक तंदुरुस्त शरीर की सभी सुखों का भोग करने योग्य होता है। रोगी इंसान हमेशा उदास तथा दुखी दिखाई देता है उसे किसी भी कार्य को करने में खुशी नहीं मिलती स्वास्थ्य इंसान किसी भी कार्य को प्रसन्नता पूर्वक कर लेता है इसलिए हर एक के जीवन में स्वस्थ जीवन का विशेष महत्व है।

आज अच्छे स्वास्थ्य को पाने के लिए कई प्रकार के खेलों का सहारा लिया जा रहा है जैसे दौड़ना कूदना कबड्डी , टेनिस, हॉकी , फुटबॉल , जिमनास्टिक , योग  आदि से उत्तम व्यायाम नहीं होता है। इनमें से कुछ खेल आउटडोर होते हैं और कुछ इंडोर आउटडोर खेल घर से बाहर खेले जाते हैं जो खेल मैदान में खेले जाते हैं जब के इंडोर खेलों को घर में ही खेला जा सकता है इंडोर खेल जैसे कैरम , शतरंज , टेबल टेनिस आदि होते हैं जबकि घर से बाहर खेले जाने वाले ऑटो डोर खेलों का आयोजन बाहर मैदानों में किया जाता है।

आज के आधुनिक युग में खेलना सिर्फ मनोरंजन का एक साधन है बल्कि इनका राष्ट्रीय और सामाजिक महत्व भी बहुत ज्यादा है इन में स्वास्थ्य प्राप्ति के साथ साथ खूब मनोरंजन भी होता है इनके द्वारा छात्रों में अनुशासन की भावना जागृत होती है क्योंकि खेल के मैदान में छात्रों को नियमों में बंधकर खेलना पड़ता है जिससे आपसी सहयोग और मेलजोल की भावना उत्पन्न होती है इसके अलावा खेलकूद के द्वारा मानव के अंदर साहस और उत्साह की भावना भी पैदा होती है।

आज का समय प्रतियोगिता का समय है और इसी दौड़ में किताबी कीड़ा बनना  उचित नहीं है बल्कि इसके साथ साथ स्वस्थ , सफलता तथा उन्नत इंसान बनने के लिए भी जरूरी है मानसिक शारीरिक तथा आत्मिक विकास का होना।

Related Articles : 
  1. खेल दिवस पर निबंध
  2. अध्यापक दिवस पर निबंध 
  3. सच्चा प्यार क्या होता है ?

SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: