Wednesday, 2 September 2020

Essay on Marie Curie in Hindi मैरी क्युरी पर निबंध

Essay on Marie Curie in Hindi मैरी क्युरी पर निबंध

essay on Marie Curie in Hindiमैरी स्क्लाडोवका क्यूरी का जन्म 7 नवंबर 1867 को पोलैंड के वारसा नगर में हुआ था महिला होने के कारण तत्कालीन वारसा में उन्हें सीमित शिक्षा की ही अनुमति थी इसलिए उन्हें छुप छुपा कर उच्च शिक्षा प्राप्त करनी पड़ी बाद में बड़ी बहन की आर्थिक सहायता की बदौलत वह भौतिकी और गणित की पढ़ाई के लिए पेरिस आई उन्होंने फ्रांस में डॉक्टरेट पूरा करने वाली पहली महिला होने का गौरव पाया होने पर इस विश्वविद्यालय में प्रोफेसर बनने वाली पहली महिला होने का भी गौरव मिला।

यही उनकी मुलाकात पियरे क्यूरी से हुई जो उनके पति बने इस वैज्ञानिक दंपति ने 1898 में पोलो नियम की महत्वपूर्ण खोज की कुछ ही महीने बाद उन्होंने रेडियम की खोज की चिकित्सा विज्ञान और रोगों के उपचार में यह एक महत्वपूर्ण क्रंतिकारी खोज साबित हुई।

1903 में मैरी क्यूरी ने पीएचडी पूरी कर ली इस वर्ष इस दंपति को रेडियो एक्टिविटी की खोज के लिए भौतिकी का नोबेल पुरस्कार मिला ज्ञान की दो शाखाओं भौतिकी और रसायन विज्ञान में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित होने वाली पहली विज्ञानिक है 1911 में उन्हें रसायन विज्ञान के क्षेत्र में रेडियम के शुद्धिकरण के लिए रसायन शास्त्र का नोबेल पुरस्कार भी मिला 4 जुलाई 1934 को कैंसर के चलते उनकी मृत्यु होगी उन्होंने मर कर भी लाखों लोगों को जीवन दिया उनकी मौत का मुख्य कारण रेडियो एक्टिविटी किरणें थी कहते हैं कि शोध करते समय क्यूरी ने कभी अपने शरीर पर ध्यान नहीं दिया उन्होंने कभी कोई सुरक्षात्मक उपाय नहीं किए यही वजय उन्हें मौत के करीब लेकर आई।

Related Articles - 
ऑक्सीजन पर निबंध
महान वैज्ञानिक थोमस अल्वा एडिसन पर निबंध

SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: