Thursday, 3 September 2020

Essay on Sachin Tendulkar in Hindi सचिन तेंदुलकर पर निबंध

Essay on Sachin Tendulkar in Hindi सचिन तेंदुलकर पर निबंध 


क्रिकेट की दुनिया में तहलका मचाने बाले तेंदुलकर को सचिन रमेश तेंदुलकर के नाम से भी जाना जाता है। सचिन रमेश तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को मुंबई में हुआ था। तेंदुलकर के पिता जी का नाम रमेश तेंदुलकर था। उन्होंने मात्र 16 साल की उम्र में इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा था।

सचिन तेंदुलकर एक दिना मैचों में 200 रन बनाने बाले पहले खिडारी बने इसके बाद वीरेंद्र सहवाग ने इस रिकॉर्ड को तोड़ा था। वह एक बॉलर बनना चाहते थे परन्तु डेनिस लिल्ली ने उसे सिर्फ बैटिंग पर ध्यान देने को कहा। वह अपने पिता रमेश तेंदुलकर की दूसरी पत्नी के पुत्र हैं।

सचिन तेंदुलकर बल्लेबाजी और गेंदबाजी राईट हैंड से  ही करते हैं परन्तु लिखते left hand से हैं। इन्होने  अपनी पहली सेंचुरी ( hundred ) 79 मैचों के बाद बनाई थी। परन्तु इससे पहले उन्हों ने टेस्ट मैचों में 7 सेंचुरी बना ली थी। उन्होंने अपना पहला विज्ञापन Boost कंपनी की तरफ से किया था।

Essay on Sachin Tendulkar in Hindi



Essay on Sachin Tendulkar in Hindi सचिन तेंदुलकर पर निबंध 

सचिन के बारे में रोचक तथ्य - 

23 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर पहली बार टीम इंडिया के कप्तान बने थे। उन्होंने भारतीय टीम की और से लगातार 185 एक दिना मैच खेले है यो के एक रिकॉर्ड है।

वर्ष 1996 और 2003 के वर्ल्ड कप में सचिन तेंदुलकर "मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट " रहे हैं। सचिन रमेश तेंदुलकर साल 1995 में भेष बदलकर  " रोज़ा "  फिल्म देखने गए थे परन्तु अचानक उनका चस्मा गिर जाने की वजय से सिनेमा में बैठे लोगों ने उन्हें पहचान लिया था।

14 साल की उम्र में वह रणजी ट्राफी में मुंबई की तरफ से खेले थे। सचिन तेंदुलकर सबसे कम उम्र में रणजी ट्राफी खेलने बाले खिलाडी हैं।

इन के नाम एक ख़ास रिकॉर्ड दर्ज है वह जब भी रणजी ट्राफी का कोई भी मैच खेले है उन सभी में उन्हें जीत दिलाई है। परन्तु हरियाणा के खिलाफ खेलते समय उन्हें हार का साह्माना करना पड़ा था ।
सचिन तेंदुलकर अपनी कार Ferrari के बहुत दीवाने हैं। सचिन और राहुल द्रविड़ के बीच वनडे में 331  रनों की पार्टनरशिप की थी यो के एक रिकॉर्ड है। सचिन और सौरव गांगुली के बीच में ओपनिंग करते समय कुल 6271 रन बनाये हैं यो के एक रिकॉर्ड है।

थर्ड अंपायर के दुयारा आउट होने बाले सबसे पहले खिलाडी सचिन तेंदुलकर हैं। यो मैच भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला गया था इसमें दक्षिण अफ्रीका के महान फील्डर जोटी रोड्स के थ्रो पर third umpire दुयारा आउट दिया गया था उन्होंने रणजी के पहले मैच में रवि शास्त्री के साथ बैटिंग के लिए मैदान में उतरे थे।
उन्होंने मीरपुर में बांग्लादेश के खिलाफ अपना 100 वां शतक लगाया था। इनके नाम टेस्ट क्रिकेट में 51 सैंकड़े हैं यो के एक रिकॉर्ड है। एक दिना मैचों में सबसे ज्यादा 49 शतक तेंदुलकर के नाम हैं यो के एक रिकॉर्ड है। वनडे मैचों में वह 41 बार नॉट आउट रहे हैं।

टेस्ट मैचों में सचिन तेंदुलकर 33 बार नॉट आउट रहे हैं।

आप ने सिर्फ एक T20 मैच खेला है जिसमे उनके 10 रन  हैं 2 चौकों के साथ।

सचिन तेंदुलकर ने IPL के 78 मैच खेले हैं जिसमे उनके 23,34 रन हैं जिनमे 100 रन उनका सबसे अधिक स्कोर है। आईपीएल में तेंदुलकर के 295 चौके और 29 SIXER हैं।

वनडे मैचों में उन्होंने सबसे ज्यादा 18,426 रन हैं। वनडे मैचों में तेंदुलकर के नाम 96 अर्धशतक और 140 कैच दर्ज़ हैं। टेस्ट मैचों में उनके सबसे ज्यादा 15, 921 रन दर्ज़ हैं। टेस्ट मैचों में सचिन तेंदुलकर के नाम 67 अर्धशतक और 115 कैच भी दर्ज़ हैं।

तेंदुलकर ने अपना पहला टेस्ट 15 नवम्बर 1989 को पाकिस्तान के खिलाफ खेला था और आखरी टेस्ट मैच 15 नवम्बर 2013 को मुंबई में वेस्ट इंडीज की टीम के खिलाफ खेला था। उन्होंने सबसे ज्यादा 463 वनडे मैच खेले हैं।

आप ने अपना पहला वनडे 18 दिसंबर 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था और आखरी वनडे मैच 18 मार्च 2012 को पाकिस्तान के खिलाफ ही खेला था विश्व कप में 2000 रनों का आंकड़ा पार करने बाले सचिन तेंदुलकर पहले बल्लेबाज हैं।

तेंदुलकर एक अच्छे बल्लेबाज होने के साथ - साथ एक अच्छे बॉलर भी रहे हैं वनडे मैचों में उन्होनो ने 154 विकेट लिए हैं । टेस्ट मैचों में तेंदुलकर ने 46 और T20 में 1 विकेट लिया है । इन्हीं कारणों से ही सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का भगवान माना गया है जिन्होंने  एक से बढ़कर एक रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज़ किये हैं ।

पढ़ें - 10 lines on Sachin Tendulkar in Hindi

SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: