Wednesday, 2 September 2020

Essay on Swan in Hindi : हंस पर निबंध


Essay on Swan in Hindi



Essay on Swan in Hindi- हंस को प्रेम और पवित्रता का प्रतीक माना जाता है हंस माता सरस्वती का वाहन है। हंस अपना ज्यादातर जीवन पानी में रहकर ही गुज़ार देते हैं । यह जलीय पक्षी ज्यादातर झीलों जा बड़े -बड़े तालाबों में रहते हैं। ऑस्ट्रेलिया में काले रंग के हंस पाए जाते हैं। हंस अपने जीवनकाल के दौरान एक ही साथी के साथ रहकर जिन्दगी गुजार देते हैं।

हंस का मुख्य भोजन  बीज, बेरियां और छोटे -मोटे कीड़े मकौड़े खाते हैं। ज्यादातर लोगों का मानना है के हंस मानसरोवर झील के कंडे रहते हैं और वहां मोती चुगते हैं पर वैज्ञानिक इस बात की पुष्टि नहीं करते हैं। हंस दुनिया के सभी क्षेत्रों में पाया जाता है।

संसारभर में हंसों की सात प्रजातियां पायी जाती हैं। हंसनी के अंडों से बच्चे 35 से 42 में बाहर आ जाते हैं। हंसनी बच्चों को जन्म देने के लिए 6-7 अंडों पर बैठती है हंसनी अंडे देने के लिए पानी के नजदीक ही घास - फूस और पत्तियों वाली जगह का चायन करती है ।

SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: