Wednesday, 2 September 2020

घोड़े पर निबंध Short Essay on horse in Hindi


Short Essay on horse in Hindi
- घोड़ा एक शाकाहारी जानवर है जो घास -फ़ूस खाता है संसार में घोड़ों की 160 नस्लें पाई जाती हैं इनमे से अरबी घोड़ा बेहद ख़ास माना जाता है। इनकी ऊंचाई तकरीवन 5 से 6 फ़ीट तक होती है। घोड़े ज्यादातर हरे घास के मैदानों में रहना पसंद करते हैं

Short Essay on horse in Hindi



घोडा प्राचीन समय से ही मनुष्य का पालतू जानवर रहा है। घोड़े पूरी दुनिया में पाए जाते हैं। यह कई रंगों और विभिन्न नस्लों के होते हैं। यह बड़ा ही शक्तिशाली जानवर है यह बिना रुके कई घंटों तक दौड़ सकता है। घोड़े सिर्फ नाक के द्वारा सांस लेते हैं जबकि यह मूंह से साँस नहीं लेते हैं।

घोडा बोझ ढ़ोने , सवारी करने और गाडी को खींचने के काम आता है। पुराने समयों में राजा महाराजा घोड़ों पर सवार होकर जंगल में शिकार के लिए जाया करते थे इसके इलावा घोड़े जंग के मैदान में भी एक सहायक का काम करते थे।
घोड़े नाक से सांस लेते हैं न की मूंह से घोड़ा एक शक्तिशाली जानवर है जो बिना रुके कई घंटों तक दौड़ सकता है। एक घोड़े के उम्र 25 से 30 वर्ष तक होती है।

घोड़े बिना रुके लम्बे समय तक तेज़ रफ़्तार से दौड़ सकते हैं। पुराने समयों से ही घोड़ा मनुष्य का गहरा सबंध रहा है। घोड़ा वफ़ादार जानवरों में गिना जाता है। एक घोड़ा अपने जीवन का ज्यादातर समय दौड़ कर और खड़े रहकर बिता देता है।

घोडा बहुत ही समझदार और वफ़ादार जानवर माना जाता है यह अपने मालिक को कभी नहीं भूलते। घोड़ों के सुनने और सूंघने की क्षमता बहुत ज्यादा होती है।

Must Read :

SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: