Thursday, 3 September 2020

Turtle and Peacock story in Hindi कछुए और मोर की कहानी

Small story for kids in Hindi - एक झील में रहने वाले कछुए व किनारे के ही पेड़ पर रहने वाले एक मोर में दोस्ती हो गई। एक दिन जब वे दोनों बातों में तन्मय थे तब एक शिकारी चुपके से आया और मोर को अपने जाल में फांस लिया। कछुए ने शिकारी से बहुत अनुनय-विनय की कि वह मोर को छोड़ दे। ="मैं इस सुंदर पंछी को क्यों छोडूं," शिकारी ने कहा। "इसकी मुझे बाजार में अच्छी, तगड़ी कीमत मिलेगी।"

"इसको छोड़ने के बदले मैं तम्हें एक मोती दंगा." कछुए ने कहा। "रुको जरा।" उसने झील में गोता लगाया और थोड़ी देर बाद एक मोती के साथ ऊपर आया जिसे देख कर शिकारी की आंखें फटी की फटी रह गईं। यह बहुत बड़ा व बेहतरीन मोती था। शिकारी ने तुरंत मोर को छोड़ दिया और मोती लेकर खुशी-खुशी चला गया।

Turtle and Peacock story in Hindi


दो दिन बाद वह वापस आ गया। कछुआ उस समय झील से निकला ही था। उसने जैसे ही शिकारी को आते देखा, समझ गया कि मुसीबत आ गई। "तुमने मुझे जो मोती दिया था, बेशक वह कीमती था, "शिकारी ने कहा, "लेकिन इसकी कीमत और ज्यादा हो सकती है अगर वैसा ही एक और मोती मिल जाए तो कानों के झुमके बन सकते हैं। मुझे एक और मोती ला दो वरना...! उसकी आवाज में धमकी का पुट आ गया।

"ठीक है, ठीक है," कछुए ने मैंने दिया था। मैं वैसा ही दूसरा मोती ढूंढने की कोशिश करता हूं।" शकारी ने उसे वह मोती दे दिया और कछुआ पानी में चला गया। 'तुम्हें कितना समय लगेगा?" शिकारी ने पूछा। 'शायद पूरी जिंदगी, "कछुए ने कहा। 'तुमने मेरे दोस्त को देख लिया मैं तभी समझ गया था कि तुम वापस जरूर आओगे इसलिए मैंने उसे समझा-बुझा कर घने जंगल में एक पेड़ पर भेज दिया। अब मुझे उसकी चिंता नहीं है।" यह कहते हुए कछुआ पानी में गुम हो गया और शिकारी सदमे और दुख से भौंचक्का रह गया।

अन्य कहानियां - 
King and Spider story in Hindi राजा और मकड़ी की कहानी
ईश्वर की सच्ची पूजा God story in Hindi
Bal kahani in Hindi बन गयी बिगड़ी बात बाल कहनी

SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: